जानिए Linux क्या है पूरी जानकारी

linux kya hai hindi

Linux क्या है? आज कई सारे ऑपरेटिंग सिस्टम उपलब्ध है, लेकिन आप सिर्फ कुछ ही ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे मे जानते है जैसे: Windows, Macantosआदि। लेकिन आज के समय मे एक और लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम उपलब्ध है जिसका नाम है लिनक्स। आज हम आपको लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की पूरी जानकारी देंगे। लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम आज कई सारे कामों के लिए इस्तेमाल होता है। लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि लिनक्स का इस्तेमाल खास कर हैकिंग के लिए किया जाता है लेकिन ऐसा नहीं है इसके और भी करिया होते है। चलिए समझते है कि लिनक्स के क्या फायदे है, लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का इतिहास आदि। 

तो चलिए शुरू करते है !!

Linux क्या है | What is Linux in hindi

Linux  भी Unix जैसा ही एक ऑपरेटिंग सिस्टम है, यह Open Source सॉफ्टवेयर का सबसे लोकप्रिय सॉफ्टवेयर है। यह जीपीएल V2 लाइसेंस के साथ आता है जो जरूरी और साधारण कामों के लिए बनाया गया है।Linux Operating System in hindi का कुछ भाग यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम को देख कर बनाया गया है । लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम मिनिक्स का ही अपग्रेड वर्ज़न है। 

जैसा की आप सभी को पता होना चाइए की Linux  एक Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम है,इस ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण इंटेल 80386 कंप्यूटर मे इस्तेमाल करने के मकसद से किया गया था। 

Linux का इतिहास | History of Linux in Hindi

Linux का निर्माण 1991 मे लिनुस टोरवाल्डस ने किया था। लिनुस टोरवाल्डस  यूनिवर्सिटी ऑफ हेलसिंकी के छात्र थे। इन्होंने इसका निर्माण मिनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का एक Open Source Alternative  के तौर पर किया था। मिनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम यूनिक्स का ही एक डूप्लकैट वर्ज़न था। 

लिनक्स का नाम सर्वप्रथम FREAX रखा गया था लेकिन बाद मे जब लिनुस टोरवाल्डस  ने उसका सोर्स कोड देखा तो उसमे इसके डायरेक्टरी का नाम लिनक्स रखा गया था, ये नाम उन्हें काफी पसंद आया। तबसे आज तक इसका नाम लिनक्स ही है। 

Linux के फायदे | 

लिनक्स आज एक पॉपुलर ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका इस्तेमाल हर जगह हो रहा है,आप मे से कई सारे लोगों को नहीं पता होगा कि लिनक्स इस्तेमाल करने का क्या फायदा होता है, इसलिए इस लेख मे हम आपको लिनक्स के फायदे के बारे में बताएं। 

  1. पोर्टेबल: इसका मतलब ये सॉफ्टवेयर आसानी से आपके कंप्यूटर के हार्डवेयर मे चल सकता है। लिनक्स का कर्नल और ऐप्लकैशन प्रोग्राम सभी हार्डवेयर प्लेटफॉर्म को सपोर्ट करते है जिससे आपको कोई परेसानी नहीं होगी। 
  2. ओपन सोर्स:ओपन सोर्स का मतलब बिल्कुल मुफ़्त, लिनक्स एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम मतलब इसके लिए आपको कोई पैसे नहीं देने है और आप अगर चाए तो इसका सोर्स कोड देख सकते है । आप अगर इसको चाए तो अपने मुताबिक बदलाव कर सकते है अगर आपको इसका प्रोग्रामिंग आता है।
  3. मल्टी यूजर: मल्टी यूजर का मतलब एक ही समय मे कई सारे यूजर इसके रिसोर्सेज को इस्तेमाल कर सकते है जैसे मेमोरी, रैम, प्रोग्राम आदि
  4. मल्टीप्रोग्रामिंग:मल्टीप्रोग्रामिंग का मतलब एक ही समय मे कई सारे ऐप्लिकेशन चालान, लिनक्स भी एक मल्टीप्रोग्राममिंग ऑपरेटिंग सिस्टम है इसमें आप एक ही समय मे कई सारे टास्क कर सकते है ।
  5. हाइरार्ककल फाइल सिस्टम:इसमें आपको स्टैंडर्ड फाइल स्ट्रक्चर मिलता है जिससे आपके सारे सिस्टम फाइल और यूजर फाइल अच्छे से अरेंज होते है। 
  6. सुरक्षित:लिनक्स में आपको कई सारे सिक्योरिटी की सुविधा मिलती है। इन्हीं वजह से लिनक्स काफी सुरक्षित होता है।

Linux  के नुकसान | Disadvantages Of Linux in Hindi

  • Linux बिल्कुल मुफ़्त होता है इसको आप अपने अनुसार Custumize भी कर सकते है लेकिन ये ऑपरेटिंग सिस्टम किसी Non-Technical के लिए इस्तेमाल करना  काफी मुस्किल है। 
  • इसमे विंडोज़ के मुकाबले प्रोग्राम को इंस्टॉल करना काफी मुस्किल होता है । 
  • बाजार मे काम दीमंड होने कि वजह से इसकी लोकप्रियता काफी कम है इसलिए इसमें आपे मन मुताबिक सभी सॉफ्टवेयर नहीं मिलते है। 
  • लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के सभी ड्राइवर सपोर्ट नहीं करते है इसीलिए आपको इसमे थोड़ी दिक्कत हो सकती है । 

Linux की विशेषता | Features Of Linux in Hindi 

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम कि कई सारी विशेषता है, इन्हीं के कारण आज  लिनक्स इस्तेमाल हो रहा है। चलिए जानते है की Linux Operating System की क्या विशेषता है :

  1. हार्डवेयर लेयर: यही लेअर है जो आपके सभी Peripherals Devices को कंट्रोल करता है और सपोर्ट करता है। 
  2. कर्नल :कर्नल ही आपके ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे प्रमुख भाग होता है जो सीधे आपके हार्डवेयर से Communicate करता है।  
  3. शेल:ये आपके कर्नल के सारे फंक्शन को आपसे छुपा कर रखता है, इसका काम आपसे कमांड को लेने का होता है और फिर कर्नल इन कमांड को Execute कर देता है। 
  4. Utillites: यही वो प्रोग्राम होता है जो आपको ऑपरेटिंग सिस्टम के सारे Functions को इस्तेमाल करने की अनुमति देते है। 

Windows और Linux मे अंतर | Difference Between Windows & Linux in Hindi

differnece between windows & linux in hindi

अभी तक आपने जाना की Linux क्या है और  Linuxके फायदे आदि। लेकिन अब हम आपके विंडोज़ और लिनक्स के बीच मे क्या अंतर है बताने जा रहे है। आप सभी जानते है विंडोज़ और लिनक्स दोनों ही ऑपरेटिंग सिस्टम है लेकिन लिनक्स विंडोज़ से काफी अलग है। चलिए देखते है विंडोज़ और लिनक्स मे अंतर: 

  1. आप अपने विंडोज़ मे स्टॉरिज डिवाइस मे कई सारे पार्टिशन बना सकते है लेकिन लिनक्स मे एक पेड़ जैसा फाइल सिस्टम को इस्तेमाल करता है जिससे आपके एक ही ड्राइव मे कई सारे फाइल रहती है ।
  2. विंडोज़ आपके अन्य हार्डवेयर जैसे हार्ड डिस्क, सीडी ड्राइव आदि को डिवाइस मानता है लेकिन लिनक्स मे इन डिवाइसेस को फाइल माना जाता है।
  3. माइक्रोसॉफ्ट आपको 4 प्रकार का यूजर अकाउंट बनाने के अनुमति देता है जैसे: ऐड्मिनिस्ट्रेटर, स्टैन्डर्ड , चाइल्ड, और गेस्ट, लेकिन लिनक्स मे आप सिर्फ 3 प्रकार के यूजर अकाउंट बना सकते है जैसे: रेगुलर, रूट, और सर्विस अकाउंट।
  4. विंडोज़ मे ऐड्मिनिस्ट्रेटर के पास सभी का कंट्रोल होता है उसी तरह लिनक्स मे भी रूट यूजर के पास सभी कंट्रोल होते है।
  5. विंडोज़ एक क्लोज्ड सोर्स सॉफ्टवेयर है लेकिन लिनक्स एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है। 
  6. विंडोज़ ज्यादा सुरक्षित नहीं होता है इसमे मालवेर और ट्रोजन आसानी से अटैक कर देते है लेकिन लिनक्स सुरक्षा के मामले मे विंडोज़ से काफी बेहतर है। 
  7. विंडोज़ सिंगगल यूजर के साथ मल्टी टास्क ऑपरेटिंग सिस्टम है लेकिन लिनक्स मल्टी यूजर के साथ मल्टी टास्क भी है। 

लिनक्स के 10 महत्वपूर्ण कमांड | Linux 10 Important Commands in Hindi

इस लेख मे हम आपको लिनक्स की पूरी जानकारी  दे चुके है लेकिन अब हम आपको इसके कुछ कमांड बताने जा रहे है जो आपको काफी मदद करेगी लेकिन याद रखे हम आपको सिर्फ कमांड बता रहे है। तो चलिए देखते है लिनक्स के कमांड

  • ls :इस येकमांड का इस्तेमाल करंट डायरेक्टरी को लिस्ट करने के लिए होता है।
  • cd : ये करंट डायरेक्टरी को चेंज करने  के लिए है।
  • cat :इस कमांड से आप अपने फाइल के कंटेन्ट को देख सकते है साथ मे कॉपी और मर्ज भी कर सकते है। 
  • history : इसके मदद से आप सभी कमांड को देख सकते है जिनको आपने एक्सक्यूट किया है। 
  • chmod :ये कमांड फाइल पर्मिशन को बदलने के लिए है।
  • clear : इससे आपका स्क्रीन खाली होजाएगा।
  • find:ये कमांड आपको आपके फाइल मे कोई भी फाइल कोजने मे मदद करता है।
  • du :इससे आप अपने फाइल की साइज़ देख सकते है।
  • df : ये आपको कितना स्टॉरिज स्पेस अवियबले है बताता है।
  • cp :इससे आप किसी फाइल या फ़ोल्डर को कॉपी कर सकते है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *