PAN Card क्या है कैसे आवेदन करे

pan card kya hai

PAN Card  क्या? आप सभी इस शब्द से वाकिफ होंगे, और कही न कही सुने होंगे लेकिन क्या आप सच मे जानते है कि Pan Card क्या है। हर एक देश मे रहने वाले लोगों के पास वहाँ के गोवर्मेंट द्वारा उन्हे कोई पहचान पत्र दिया जाता है जिससे यह ज्ञात होता है कि ये नागरिक इसी देश का निवासी है। 

इसी प्रकार हमारे देश भारत मे मे भी कई सारे कार्ड और पहचान पत्र मिलते है जिससे आपकी नागरिकता साबित होती है जैसे: आधार कार्ड,वोटर कार्ड, और राशन कार्ड आदि उन्हीं में एक है पैन कार्ड। 

लेकिन अफसोस कि बात है कई सारे लोगों को ये नहीं पता है कि PAN Card क्या है और कैसे बनवाए ? लेकिन इस लेख को पढ़ कर आपको पैन कार्ड की पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

पैन कार्ड क्या है | What is pan card in Hindi

PAN Card यानी Permanent Account Number ये पैन कार्ड पूरा नाम है। पैन कार्ड एक Unique पहचान पत्र है जिसका इस्तेमाल किसी भी फाइनेंस से संबंधित कामों के लिए होता है। पैन कार्ड, भारत सरकार के आयकर विभाग द्वारा दिया जाता है। 

पैन कार्ड मे आपको 10 डिजिट का अल्फनुमेरिक नंबर मिलता है जो आपको इंडेंटईफ़ी करेगा। भारत मे पैन कार्ड इंकम टैक्स ऐक्ट 1961 के तहत दिया जाता है। ये CBDT(Central Board For Direct Taxes)  कि देख रेख मे जारी किया जाता है। PAN Card से इंकम टैक्स की चोरी को रोका जाता है, इसमे आपके पूरे बैंक की जानकारी होती है अपने कितना पैसा, क्यों और कब खर्च किया इसकि पूरी जानकारी आयकर विभाग के पास होती है। 

पैन कार्ड दिखने मे बिल्कुल आपके एटीएम कार्ड की तरह ही होता है। इसमे आपका नाम, पिता जी का नाम, जन्म की तारीख, हस्ताक्षर और पैन नंबर के साथ एक पासपोर्ट साइज़ की फोटो होती है। 

पैन कार्ड क्यों जरूरी  है | Why PAN Card is important in hindi

आज पैन कार्ड हर एक जगह पर दस्तावेज के रूप मे इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन कई सारे ऐसे भी काम है जो बिना पैन कार्ड के नहीं हो पाते है चलिए देखते है कौन से ऐसे काम है जो बिना पैन कार्ड के नहीं हो सकते है और पैन कार्ड क्यों जरूरी है। 

  • PAN Card  का इस्तेमाल आप पहचान पत्र के रूप मे कर सकते है। 
  • आयकर शुल्क भरने के लिए पैन कार्ड आवश्यक होता है इसके बगैर आपको ज्यादा कर शुल्क भरना पड़ सकता है। 
  • इससे आयकर विभाग किसी भी तरह के पैसों  के लेनदेन पर नजर रखता है, जिससे टैक्स की चोरी को रोका जा सकता है। 
  • अगर आपको ज्यादा पैसों का लेनदेन करना है तो वहाँ पर पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है। 
  • आज के समय में आपको किसी भी बैंक में कोई खाता खुलवाने के लिए पैन कार्ड अनिवार्य है।
  • अगर आप कोई बड़ी खरीदारी  करते है या बेचते है  जैसे: घर, गहने,गाड़ी, और जमीन आदि की तो वहाँ पर पैन कार्ड अनिवार्य होता है। 
  • कोई एनआरआई व्यक्ति भी पैन कार्ड की मदद से इस देश मे अपना बिजनेस खोल सकता है और जमीन भी ले सकता है। 

पैन कार्ड के प्रकार | Type of pan card in Hindi

आज कल पैन कार्ड के भी अलग अलग प्रकार हो गए है सभी प्रकार के लोगों के लिए अलग अलग पैन कार्ड बनता है। चलिए समझते है कि PAN Card कितने प्रकार का बनता है। 

  • व्यक्तियों के लिए पैन कार्ड :ये पैन कार्ड सिर्फ किसी व्यक्ति को मिलता है। इस पैन कार्ड के आवेदन के लिए आपको NSDL या UTIISL कि वेबसाईट पर फॉर्म 49 को भर के करना पड़ता है।इसको कोई भी भारतीय भर सकता है जैसे: छात्र, नाबालिग, और कोई बेरोजगार आदि। 
  • गैर-निवासी व्यक्तियों या भारतीय मूल के व्यक्तियों के लिए पैन कार्ड: कोई भी एनआरआई और पीआईओ इस पैन कार्ड का लाभ उठा सकता है इसके लिए उसको फ़ॉर्म 49A भरना होता है। 
  • भारत में टैक्स देने वाली विदेशी संस्थाओं के लिए पैन कार्ड: भारत मे कई सारी विदेशी कंपनी है जो भारत मे रजिस्टर नहीं लेकिन वो भी आयकर शुल्क देते है। ये कंपनियां फॉर्म 49AA भर के अपना पैन कार्ड बनवाया है। 
  • भारतीय कंपनियों के लिए पैन कार्ड: भारत में रजिस्टर जितनी भी कंपनी है वो भी टैक्स देती है, ये भी अपना पैन कार्ड बनवाया है। लेकिन इनका पैन कार्ड इंडिविजुअल से अलग होता है। 

E-PAN Card क्या है | What is E-PAN Card in Hindi

PAN Card  एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज है, अगर ये न हो तो आपके कई सारे काम रुक जाते है।अगर आपको Income Tax Return करना है या फिर किसी बैंक मे 50,000 से ज्यादा रुपये जमा या निकालने हो तो पैन कार्ड आनिवार्य होता है।लेकिन आप सभी जानते है इस समय महामारी के कारण कई सारे काम रुक गए है, इसी वजह से आपका पैन कार्ड भी नहीं बन पा रहा है। 

लेकिन कई ऐसे तरीके है जिनसे आपका पैन कार्ड सिर्फ 5 मिनट मे बन सकता है, लेकिन कई सारे लोगों को इसकि जानकारी नहीं होती है। आयकर विभाग द्वारा आजकल Digital PAN Card बनाया जा रहा है जो मात्र 5 मिनट के अंदर बन जाता है।इस पैन कार्ड को E-PAN Card भी कहते है। ये पैन कार्ड आप तुरंत डाउनलोड कर सकते है। 

Physical PAN Card और E- PAN CARDमे कौन बेहतर है | Who is better in Physical PAN Card and E-PAN CARD in Hindi

दोनों ही पैन कार्ड बेहतर होते है क्योंकि इनमे कोई अंतर नहीं होता है, E-PAN Card आपको डिजिटल मिलता है ये फिज़िकल नहीं होता है लेकिन आप इसको Printout  करवा कर Physical PAN Card कि तरह इस्तेमाल कर सकते है।डिजिटल पैन कार्ड मे खो जाने की दिक्कत नहीं होती है और ये हर जगह काम करता है।  

PAN Card के लिए कैसे अप्लाइ करे | How to apply for PAN Card in Hindi 

पहले के समय मे आपका पैन कार्ड सिर्फ सरकारी कार्यालय मे ही बनता था लेकिन आज कुछ सालों से आप पैन कार्ड काही से भी बनवा सकते है या खुद बना सकते है। 

पैन कार्ड बनवाने के लिए आप किसी जन सेवा केंद्र मे जा सकते है या फिर अगर आपको इंटरनेट चलाने आता है तो आप   incometaxindia.gov.in या tin-nsdl.com या utiitsl.com  आदि वेबसाईट पर जाकर अप्लाई कर सकते है। 

दोस्तों इन वेबसाईट पर आप दोनों तरह के पैन कार्ड बनवा सकते है जैसे: फिज़िकल पैन कार्ड या डिजिटल पैन कार्ड ये आपके ऊपर है। फिज़िकल पैन कार्ड के लिए कुछ रुपये लगते है लेकिन डिजिटल पैन कार्ड फ्री मे बन जाता है। 

फिज़िकल पैन कार्ड पोस्ट के जरिए आपके घर पर पहुच जाता है जिसमे  1 हफ्ते से 2 हफ्ते लगते है लेकिन डिजिटल पैन कार्ड तुरंत बन के मिल जाता है जिसको आप तुरंत डाउनलोड करके इस्तेमाल कर सकते है। 

PAN Card बनवाने के लिए क्या क्या चाइए होता है | What is required to make a PAN Card in hindi

अभी हमने ऊपर बताया कि फिज़िकल पैन कार्ड पोस्ट के जरिए आता है और डिजिटल तुरंत मिल जाता है। उसी तरह इन दोनों को बनवाने के लिए अलग अलग दस्तावेज लगते है। 

चलिए जानते है कि  पैन कार्ड बनवाने के लिए  क्या क्या दस्तावेज लगते है। 

Physical PAN Card  बनवाने  के लिए 

  1. दो पासपोर्ट साइज़ फोटो 
  2. जन्म प्रमाण पत्र जैसे: बर्थ सर्टिफिकेट, मैरिज सर्टिफिकेट, हाई स्कूल मार्कशीट, आदि 
  3. पहचान पत्र जैसे: वोटर कार्ड, पासपोर्ट, बिजली का बिल, ड्राइविंग लाइसेंस, और आधार कार्ड आदि। 
  4. अदरेस्स प्रूफ जैसे: बिजली का बिल, ड्राइविंग लाइसेन्स, आधार कार्ड आदि। 

ये कुछ दस्तावेज है जो पैन कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक होते है। लेकिन डिजिटल पैन कार्ड बनवाने के लिए इतने ज्यादा दस्तावेज कि जरूरत नहीं होती है। चलिए जानते है कि E-PAN Card बनवाने के लिए क्या क्या दस्तावेज चाहिए  होते है। 

E-PAN CARD बनवाने के लिए 

E-PAN Card बनवाने काफी आसान है इसके लिए आपको सिर्फ आधार कार्ड कि जरूरत होती है। इसके अलावा और किसी दस्तावेज की जरूरत नहीं होती है। 

PAN Card का Status कैसे चेक करें | How to check PAN card status in Hindi

जब आप पैन कार्ड के लिए एप्लीकेशन भर देते है, तो उसके बाद आप अपने पैन कार्ड का स्टेटस चेक कर सकते है की आपके पैन कार्ड बनवाने की प्रक्रिया कहाँ तक पहुँचा है। चलिए देखते है कैसे आप अपने पैन कार्ड का स्टेटस ट्रैक कर सकते है। 

UTIISL के माध्यम से अप्लाई किए गए पैन कार्ड को ट्रैक करने के लिए आपको uti की तरफ से एक 10 अंकों का नंबर मिलता है जिसके जरिए आप अपने पैन कार्ड को ट्रैक कर सकते है। आप अपने ऐप्लिकेशन को भरने के 7 दिन बाद से ही अपने ऐप्लिकेशन को ट्रैक कर सकते है। 

हमने कुछ स्टेप बताए है जिससे आप अपने पैन कार्ड के एप्लीकेशन का स्टेटस चेक कर सकते है:

  1. सबसे पहले UTIISL के वेबसाईट ट्रैक पेज पर जाना है। 
  2. इसके बाद पेज के खुलने के बाद आपको  Application Coupon Number  को डालना है। 
  3. उसके बाद आपको नीचे  Captcha Code को भरना है और फिर सबमिट करना है । 
  4. इसके बाद आप अपने पैन कार्ड के स्टेटस को वेबसाइट से देख सकते है। 

पैन कार्ड गायब/चोरी हो जाने की स्थिति में क्या करें | What to do if PAN card is missing / stolen Hindi

  • पैन कार्ड गायब हो जाने से कई सारी परेशानी होने लगती है, लेकिन आप आसानी से अपने पैन कार्ड की डुप्लीकेट कॉपी निकाल सकते है। 
  • अगर आपका भी पैन कार्ड चोरी या खो गया है तो आप नए पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है उसके लिए आपको सारी जानकारी सही सही देनी होगी। 
  • अगर पैन कार्ड गायब/चोरी हो गया है तो सबसे पहले उसकी आनलाइन रिपोर्ट करें। 

भारत सरकार पैन कार्ड हेल्पलाइन | Government of India PAN Card Helpline

आज पैन कार्ड धारकों को सहायता के लिए हेल्पलाइन की सुविधा उपलब्ध है ।  

  1. ऑनलाइन सहायता के लिए आप incometaxindia.gov.in या tin-nsdl.com पर जा सकते है। 
  2. 24 घंटे हेल्पलाइन नंबर 1800-180-1961 या020‐27218080
  3. आप ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है  [email protected] 
  4. एसएमएस के जरिए भी आप अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है 57575 पर एसएमएस करें या<881010101010100> से 57575

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *