backlink kya hota hai

Backlink क्या होता है | high quality backlink बनाने के 5 तरीके

Backlink kya hai? येप्रश्न हमेसा एक नए ब्लॉगर के दिमाग मे आता है। अगर आपको अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचाना चाहते है तो आपको Seo करना पड़ता है। backlink भी seo का ही एक हिस्सा है। Backlink से आपके वेबसाईट की अथॉरिटी बढ़ जाती है। आज इस लेख मे हम जानेंगे की backlink kya hota hai और ये भी की कैसे आप हाई क्वालिटी बैकलिंक बना सकते है। तो दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढे इसमे आपको backlink से संबंधित पूरी जानकारी मिलेगी।

तो चलिए शुरू करते है!!

Backlink क्या है |What is Backlinks in hindi

जब आपके वेबसाईट की लिंक किसी अन्य वेबसाईट से जुड़ती है तब उसको backlink कहते है इसको करने की प्रक्रिया को हम लिंक बिल्डिंग भी कहते है।आसान भाषा मे बोले तो backlink किसी अन्य वेबसाईट के यूजर को आपके वेबसाईट तक पहुचाने के लिए एक रास्ता होती है।

एक उद्धरण के माध्यम से समझते है की बैकलिंक होता क्या है? मान लीजिए की किसी अन्य वेबसाईट वेबसाईट का url आपके आर्टिकल मे किसी भी तरह से जुड़ जाता है तो उस url को जोड़ने को हम बैकलिंक कहते है।

बैकलिंक से जुड़े Terms का मतलब

  1. लिंक जूस:जब किसी अन्य वेबसाईट से आपका होमपेज जुड़ा होता है या आपके ब्लॉग का कोई आर्टिकल जुड़ा हुआ होता है तब सर्च इंजन उस लिंक जूस को आगे पास करता है जिससे कोई भी यूजर उस लिंक के माध्यम से आपके वेबसाईट या ब्लॉग तक आता है। लिंक जूस के बहुत से फायदे आपको मिलते है जैसे  आपके विजिटर बढ़ जाते है,आपके वेबसाईट की डोमेन अथॉरिटी बढ़ जाती है।
  2. लो क्वालिटी बैकलिंक्स:अब किसी ऐसी वेबसाईट से बैकलिंक लेते है जिसका da,pa बहुत ही कम होता है और स्पैम स्कोर ज्यादा होता है तब वो backlink low quality होती है। आप जब भी backlink बनाए तो ध्यान रखे अच्छे वेबसाईट से ही बनाए। वरना इससे आपके वेबसाईट की रैंकिंग खराब भी हो सकती है। Backlink बनाते समय ये भी ध्यान रखे की उस वेबसाईट का स्पैम स्कोर 4 या 5% से ज्यादा न हो।
  3. हाई क्वालिटी बैकलिंक: high quality backlinks के कई सारे फायदे है। इससे आपका da pa बढ़ता  है साथ मे traffic भी बढ़ता है। हाई क्वालिटी बैकलिंक आपको सिर्फ अच्छी वेबसाईट से ही मिलेंगी जिनकी गूगल की नजर मे अच्छी रैंकिंग होगी। इन बैकलिंक्स को बनाना आसान नहीं होता है।आप मे से कई लोग किसी भी आलटू फालतू वेबसाईट से बैकलिंक ले लेते है और कहते है की आपके वेबसाईट पर ट्राफिक और da, pa  भी नहीं बढ़ रहा है। तो भाई आप क्वालिटी बैकलिंक ही बनाए इससे आपका da ,pa  तेजी से बढ़ेगा। हमेसा अपने neeche से संबंधित वेबसाईट से ही बैकलिंक ले।
  4. इन्टर्नल लिंकिंग:जब  हम अपने किसी आर्टिकल मे उस आर्टिकल से संबंधित कोई अन्य  पोस्ट का url  जोड़ते है तब ये इन्टर्नल लिंकिंग होता है।
  5. इक्स्टर्नल लिंकिंग:जब हम अपने पोस्ट मे किसी अन्य वेबसाईट के पोस्ट का url  डाल देते है तब इसको इक्स्टर्नल लिंकिंग बोला जाता है।

बैकलिंक कितने प्रकार के होते है |types of backlinks in hindi

दोस्तों अभी आप सभी ने जाना की बैकलिंक क्या है? अब बात आती है की बैकलिंक किनते तरह का होता है।baiklinks आमतौर पर सिर्फ 2 तरह के होते है।

  1. Do follow backlinks
  2. No follow backlinks

आइए समझते है की ये क्या होते है और इनमे क्या अंतर है और साथ ही साथ ये हमारी वेबसाईट पर क्या प्रभाव डालते है।

Do follow backlink क्या होता है | What is do follow backlinks in hindi

Do follow backlinks वो बैकलिंक्स होते है निनहे यूजर और सर्च इंजन दोनों फॉलो करते है। इन बैकलिंक्स को सर्च इंजन अनदेखा नहीं करता है। इन बैकलिंक्स से आपके वेबसाईट की गूगल रैंकिंग अच्छी होती है और डोमेन अथॉरिटी भी बढ़ती है।

No follow backlinks क्या होते है? what is no follow backlinks in hindi

No follow backlinks वो बैकलिंक्स होते है जिनके जरिए कोई यूजर दूसरे वेबसाईट पर जाता है लेकिन ये बैकलिंक्स गूगल के द्वारा पास नहीं किए जाते है।इन बैकलिंक्स से आपके वेबसाईट पर ज्यादा असर नहीं पड़ता है। ये बस किसी वेबसाईट से आपके वेबसाईट पर थोड़ा सा ट्राफिक लाने मे मदद करता है।

अभी आपने जान लिया की backlinks kya hote hai  और backlinks kitne prakaar ke hote hai, अब हम आपको बताएंगे की आप कितने तरीकों से बैकलिंक्स बना सकते है।

Backlinks बनाने के 5 तरीके

कई तरीके है जिनसे आप अपने वेबसाईट के लिए बैकलिंक्स बना सकते है जिससे आपके वेबसाईट की रैंकिंग अच्छा हो जाती है। नीचे कुछ तरीके है जिनसे आप बैकलिंक्स बना सकते है। आप मे से कई लोग ये पूछते है की बैकलिंक कैसे बनाए। तो पूरा लेख पढिए।

  1. गेस्ट पोस्ट के जरिए बैकलिंक्स बनाए: ये सबसे अच्छा तरीका है वेबसाईट के लिए बैकलिंक्स बनाने के लिए। इसमे आप अपने वेबसाईट के जैसे नीच वाले वेबसाईट को एक आर्टिकल लिख कर देते है और इसके बदले मे वो आपको एक do follow या no follow बैकलिंक दे देगा। ज्यादातर वेबसाईट से आपको do follow बैकलिंक ही मिलता है।

10 गेस्ट पोस्ट एक्सेप्ट करने वाले वेबसाईट की लिस्ट:

2. डायरेक्टरी सब्मिस्शन के जरिए बैकलिंक्स बनाए: कई सारी डायरेक्टरी है जिनके जरिए आप do follow baiklinks  अपनी वेबसाईट के लिए फ्री मे पा सकते है। इनमे से एक तरीका है डायरेक्टरी सब्मिस्शन।

10 directory submission वेबसाईट की लिस्ट:

  • Somuch.com
  • Websquash.com    
  •   Usalistingdirectory.com     
  •    Marketinginternetdirectory.com     
  •    Highrankdirectory.com     
  •   Sitepromotiondirectory.com
  •     Submissionwebdirectory.com
  • Infotiger.com 
  •   Dizila.com   
  • Gainweb.org 

3. कमेन्ट पोस्ट करके:  किसी अन्य वेबसाईट के पोस्ट मे कमेन्ट करके भी आप अपने वेबसाईट के लिए फ्री मे बैकलिंक्स पा सकते है। यहाँ से आपको दोनों तरह के बैकलिंक्स मिल जाते है। नॉर्मली यहाँ से nofollow backlink ही मिलता है।

10 ब्लॉग कमेन्ट वेबसाईट लिस्ट

  • blogs.adobe.com    
  • www.hostgator.com 
  • www.androidauthority.com
  •   elegantthemes.com 
  •   neilpatel.com
  • moz.com    
  •   www.semrush.com  
  •   yoast.com
  • blog.internshala.com     
  • beebom.com 

4. सोशल नेटवर्किंग वेबसाईट के जरिए बैकलिंक्स बनाए:ये सबसे सस्ता माध्यम है no follow backlinks पाने का। आप अपने पोस्ट को facebook, instagram , youtube आदि पर शेयर करके भी यहाँ से no follow backlinks बना सकते है।

10 सोशल बुकमार्किंग वेबसाईट लिस्ट:

  1. https://www.reddit.com/    
  2.   https://www.tumblr.com    
  3.   https://www.pinterest.com/  
  4.   https://www.plurk.com      
  5.   https://www.stumbleupon.com     
  6. http://www.scoop.it
  7. https://flipboard.com/
  8. https://myspace.com/
  9. https://www.fark.com/

5.प्रेस रिलीज वेबसाईट के जरिए बैकलिंक्स बनाए: कई सारी प्रेस रिलीज करने वाली वेबसाईट है जिनसे आप अपने वेबसाईट के लिए बैकलिंक्स पा सकते है।इन बैकलिंक्स से आपको काफी फायदा होता है।

10 फ्री प्रेस रिलीज वेबसाईट लिस्ट:

  • hubpages.com  
  • www.selfgrowth.com    
  •   www.sooperarticles.com             
  • www.articlesfactory.com            
  • www.pubarticles.com    
  •   www.articles.org
  •   www.articlebiz.com       
  •     www.insertarticles.info 
  •    www.articlecube.com    
  •    www.encodinghub.com

यह ही पढे:कीवर्ड क्या होता है?फ्री मे कीवर्ड कैसे खोजे

Backlinks बनाने के फायदे

बहुत से लोगों के मन मे आता है की क्या backlinks बनाना जरूरी है। जी दोस्तों बैकलिंक्स बनाना काफी आवश्यक है इसके लाभ आपको कुछ दिनों बाद अपने वेबसाईट पर नजर आने लगते है। लेकिन काई सारे लोग low quality backlink अपने वेबसाईट के लिए बना लेते है जिससे उन्हे फायदे की जगह नुकशान हो जाता है। तो चलिए जानते है की बैकलिंक्स बनाने के क्या फायदे है?

  •  सर्च इंजन रैंकिंग अच्छी होना

जब आप किसी अच्छी वेबसाईट से बैकलिंक लेते है तो आपको इससे काफी फायदे मिलते है। इसीलिए हमेसा कहा जाता है की आप quality backlinks बनाए। इससे आपकी सर्च इंजन रैंकिंग अच्छी  होती है और आपके वेबसाईट का da भी बढ़ता है। जब आपको किसी high da वाले वेबसाईट से बैकलिंक मिलता है तब गूगल का जो crawler है आपके वेबसाईट पर उस वेबसाईट से आता है। crawler को तब समझ मे आता है की ये वेबसाईट भी trusted है। इससे आपके website की domain authority वो बढ़ा देता है।

  • Post जल्दी से गूगल मे इंडेक्स होता है और रैंक करता है

जब आप अच्छी वेबसाईट से बैकलिंक लेते है तब आपका पोस्ट जल्दी से गूगल के सर्च इंजन मे जल्दी से इंडेक्स हो हो जाता है और रैंक भी करता है।जब crawler दूसरी वेबसाईट पर पड़े लिंक से आपके पोस्ट पर आता है और आपके पोस्ट की क्वालिटी अच्छी होती है तब वो जल्दी से उसको रैंक कर देता है।

  • वेबसाईट पर referral ट्राफिक बढ़ जाता है

जब आपके वेबसाईट पर किसी अन्य वेबसाईट के माध्यम से ट्राफिक आता है तब उसको reffferal traffic कहते है। जब कभी आप बैकलिंक्स बनाते है तब आपके वेबसाईट पर उस वेबसाईट से  भी ट्राफिक आता है।

  • आपकी वेबसाईट फ्री मे प्रमोट हो जाती है

आप अपने वेबसाईट के प्रमोशन के लिए बहुत सारे पैसे खर्च करते है लेकिन आपको बैकलिंक्स की वजह से आपका प्रमोशन फ्री मे हो जाता है। जब कोई वेबसाईट आपके वेबसाईट की लिंक को अपने वेबसाईट मे जोड़ कर अपने विजिटर्स को उसपे जाने को बोलत है तो इससे आपके वेबसाईट का प्रचार फ्री मे हो जाता है।

  • आपकी वेबसाईट लोगों तक पहुँचती है

जब आप किसी अन्य वेबसाईट से लिंक लेते है तब आपके पोस्ट रैंक होने लगते है जिस वजह से आपका पोस्ट ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचता है। इससे आपके वेबसाईट की खुद की एक ब्रांड बन जाती है।

बेस्ट बैकलिंक्स चेकर टूल्स इन हिन्दी

आप मे से कई सारे लोग जानना चाहते है की आपके बैकलिंक्स बने है की नहीं? इसको जानने के लिए कई सारे best backlinks analysis tools in hindi आते है, जिनके माध्यम से आप जान सकते है की आपके वेबसाईट के कितने backlinks बने है। इनमे कुछ free backlinks anylysis tools in hindi  है और कुछ paid backlinks analysis tools in hindi है।

बेस्ट 3 free backlinks analysis tools in hindi  

  • Ubber suggest by नील पटेल
  • Smallseotools
  • Monitorbacklinks.com

बेस्ट 3 paid backlinks anylysis tools इन हिन्दी

  • Ahref
  • Semrush
  • Moj

ये सभी best backlinks checker tools in hindi है इनके जरिए आप अपने backlinks  को monitor कर सकते है।

आखिरी शब्द

बैकलिंक्स क्या होते है ये आपने जान लिया है। बैकलिंक्स आपके सर्च रैंकिंग को बेहतर करने के साथ साथ बिगाड़ता भी है लेकिन अगर आपने अच्छे और हाई क्वालिटी बैकलिंक्स बनाए है तो इससे आपके वेबसाईट की रैंकिंग बढ़ेगी।तो दोस्तों आपको हमारा ये आर्टिकल backlinks kya  hai  कैसे लगा जरूर बताए। अगर आपको ब्लॉगिंग से संबंधित या इस पोस्ट से संबंधित को जानकारी चाइए तो आप पूछ सकते है।

अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *